Bns Special: #Gediगेड़ी : गेड़ी “मेरा परिचय मेरे बचपन से”, जम्मो #छत्तीसगढ़ी #भाई #बहिनी मन ला…….

भारत न्यूज़ (bns)। सच में आज कका आप तो ग्रेट हो, आज तो बनती है बधाई की,आज आपने मन प्रफुलित कर दिया, वरना, “कोन कोन्टा (कोना बहुत सामान्य शब्द) मा पड़े रहीस ये गेड़ी हा, तेला कोनो पूछत नहीं रहिस आज तेह ऐला,शहर में नहीं विश्व पटल में पहुंचा देच। आने वाले बच्चे भी जान जायेंगे क्या है गेड़ी। प्रदेश विपक्ष को बहुत समझाया वे समझ ही नहीं पाए, चादर ताने सोये हो उन्हें कौन जगा सकता है भला। बचपन से देखते आया हु गेड़ी, कभी गाँव जाता था, तो…

MP-High Cour-Consensual-Sex: “इंटरनेट से जल्दी जवान हो रहे हैं बच्चे, सहमति से सेक्स करने की उम्र 18 से 16 साल करो”,मध्य प्रदेश HC ने केंद्र को दी सलाह

न्यूज़ डेक्स। मध्य प्रदेश हाईकोर्ट (Madhya Pradesh High Court) की ग्वालियर खंडपीठ ने केंद्र सरकार से लड़का-लड़की के बीच आपसी सहमति से संबंध (Consentual Sex) बनाने की उम्र 18 से घटाकर 16 साल करने पर विचार करने का अनुरोध किया है। हाईकोर्ट ने कहा कि क्योंकि मौजूदा दौर में इंटरनेट के चलते बच्चे जल्दी जवान और समझदार हो रहे हैं। ऐसे में उनके द्वारा उठाए गए कदम कई बार उनका भविष्य अंधकारमय कर देते हैं। हाईकोर्ट ने कहा है कि कई किशोर और नवयुवक पीड़ित लड़की जिसकी उम्र 18 से…

तोताराम, तोता नहीं रहा…….?

साहब भी ईमानदारी से काम करें तो साथ में अपने सचिवालय से ये जानकारी भी निकलवा लें, कि पिछले सुराज अभियान के अप्रैल महीने में जहां-जहां वे गये थे और जो मांगे आई थीं वे पूरी हुई है कि नहीं, यदि वे देख लेंगे तो अच्छा होगा। नहीं तो गांव वाले यही कहेंगे “राजा तैं पउर साल भी आय रहे, तभो ले हमर रपटा आज ले नहीं बनिस ।’ तब वहां स्थिति काफी गंभीर हो जाएगी। रमन सिंह अब जंगल जाएंगे, वहां देखेंगे कलेक्टर,पटवारी ठीक-ठाक काम कर रहे हैं या…

“हर व्यक्ति पत्रकार” # #”मेरे मन बात”

दोस्तों नमस्कार कैसे हैं आप सब, अरे हम छत्तीसगढ़ में है छत्तीसगढ़िया, तो हमर सब्बो छत्तीसगढ़या भाई मन ला राम-राम अउ कइसन हो सब भाई मन गा सबो झन बने-बने गा सबो संगवारी मन जी। चलिए काम की बात करता हु। आज मै आप सभी से अपने बारे में कुछ आपके बारे में बात करने-कहने आया हु, मै पिछले 30 सालो से पत्रकारिता से जुड़ा हु मेरा नाम रविकांत है दुर्भाग्य से पत्रकार हु और छत्तीसगढ़ प्रदेश का निवासी हु, आप में कुछ लोग मुझे जानते होंगे कुछ नहीं भी।…

मेरा कोना-मेरी कलम : “मेरी व्यथा”

दोस्तों नमस्कार मेरा नाम रविकांत है मै इसी प्रदेश का निवासी हु, मै आपमें से ही एक हु, हो सकता है आपमें से कुछ मुझे जानते हो और कुछ नहीं भी जानते हों, 4 साल पहले प्रदेश में सरकार बदलते ही मेरी झोली में बेरोजगारी आयी, प्रयास बहुत किया की कुछ काम मिल जाये मेरा पुराना काम मुझे वापस मिल जाए लेकिन असफलता ही हाथ लगी और दुर्भाग्य देखिये की कोई दूसरा काम आता नहीं वरना फल-सब्जी या जमीन दलाली या कोयले का काम कर ही लेता और गुजारा चल…