𝐂𝐇𝐀𝐌𝐏𝐈𝐎𝐍𝐒 🏆#T20: विश्व विजेताओं का विजय जुलूस, थम गई थी मुंबई, टीम इंडिया के सम्मान में उमड़ा जनसैलाब, मिले 125 करोड़ रुपये

मुंबई। विश्व चैंपियन भारतीय टीम के सम्मान में पूरा हिंदुस्तान एकजुट है। बारबाडोस की धरती पर दक्षिण अफ्रीका को टी20 विश्व कप 2024 (𝐂𝐇𝐀𝐌𝐏𝐈𝐎𝐍𝐒 🏆#T20) के फाइनल में हराकर रोहित ब्रिगेड ने तिरंगा लहराया था। गुरुवार को भारतीय टीम की वतन वापसी हुई। इस ऐतिहासिक जीत के जश्न में क्या बच्चे-जवान, क्या बूढ़े… हर कोई हाथ में तिरंगा लिए ‘हिंद’ के चैंपियन की एक झलक के लिए सड़कों पर है।

तारीख 29 जून 2024… इस दिन टीम इंडिया ने सिर्फ एक मैच, टूर्नामेंट या ट्रॉफी नहीं जीती थी, बल्कि करोड़ों भारतीयों का 11 साल लंबा इंतजार खत्म किया था। नई दिल्ली से टीम इंडिया मुंबई पहुंची, जहां सड़कों पर लाखों फैंस जुटे थे। हर किसी को चैंपियंस का इंतजार था। मरीन ड्राइव पूरी तरह से खचाखच भरा हुआ था। इससे पहले यह नजारा 1983, 2007 और 2011 में दिखा था, लेकिन साल 2024 में फैंस का क्रेज क्रिकेट को लेकर और भी ज्यादा बढ़ चुका है।

चैंपियन का ऐसा अद्भुत, अतुलनीय और अविश्वसनीय स्वागत न तो कभी देखा गया था और ना ही हमारे देश के अलावा कहीं और देखा जा सकता है, क्योंकि यहां क्रिकेट महज एक खेल नहीं बल्कि ‘जुनून’ है। चाहे दिल्ली हो या मुंबई, तेज बारिश के बावजूद फैंस के उत्साह में कोई कमी नहीं आई। मुंबईचा राजा रोहित शर्मा…, रन मशीन किंग कोहली के लिए जयकारे से पूरा देश गूंज उठा।

नरीमन प्वाइंट से विजय परेड की शुरुआत हुई। यहां से टीम की बस को वानखेड़े स्टेडियम जाना है। हालांकि देश से हर कोने से पहुंची भीड़ के चलते बस बहुत कम रफ्तार से चल रही है। यहां से वानखेड़े स्टेडियम का रास्ता एक किलोमीटर का है। भारतीय टीम इससे पहले गुरुवार तड़के दिल्ली पहुंची थी, जहां दिन में टीम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी। भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका को हराकर दूसरी बार टी20 वर्ल्ड कप जीता है।

टीम इंडिया ने वानखेड़े स्टेडियम में अंदर आने के बाद वहां डांस किया। मैदान कर चक्कर भी लगाया। हार्दिक पांड्या के हाथ में ट्रॉफी थी और स्टेडियम फैन्स की हूटिंग से गूँज गया। साल 2011 में जीते फाइनल की यादें ताजा हो गई। उस समय फाइनल वहीं जीता था। बीसीसीआई के सचिन, अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और ट्रेजरर ने टीम को 125 करोड़ का चेक दिया।

संबंधित समाचार

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.