हाईकोर्ट के पूर्व जज CS कर्णन गिरफ्तार, जजों की पत्नियों पर की थी अपमानजनक टिप्पणी

नई दिल्ली। कोलकाता और मद्रास हाईकोर्ट के पूर्व जज सीएस कर्णन को चेन्नई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जजों की पत्नियों और महिला जजों के ख‍िलाफ की गई कथ‍ित अपमानजनक टिप्पणी के लिए जस्टिस कर्णन की गिरफ्तारी हुई है। आरोप है कि पूर्व जज सीएस कर्णन ने सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के न्यायाधीशों की पत्नियों और महिला जजों पर अपमानजनक टिप्पणी ऑनलाइन पोस्ट की थी, जो यूट्यूब और अन्य माध्यमों पर सामने आई थी।

मद्रास हाईकोर्ट में तमिलनाडु बार काउंसिल की ओर से बीते महीने एक याचिका दायर की गई थी। याचिका में मद्रास और कोलकाता हाईकोर्ट के ‌रिटायर्ड जज सीएस कर्णन के खिलाफ जजों की पत्नियों, महिला जजों और वकीलों और अदालत की महिला स्टाफ को बलात्कार की धमकियां देने और यौन टिप्पणियां करने का आरोप लगाया गया था। याचिका में कहा गया है कि वायरल वीडियो में दिया गया जस्टिस कर्णन ने जो बयान दिया है, वो एक महिला की मानहानि करने वाला है। इसके लिए उनके खिलाफ कार्रवाई हो और मुकदमा कायम किया जाए।

इस याचिका पर सुनवाई करते हुए मद्रास हाईकोर्ट के जस्टिस एम सत्यनारायणन और जस्टिस आर हेमलता ने जस्टिस कर्णन की वीडियो को लेकर दुख और गुस्से का इजहार किया। इसके बाद जस्टिस एम सत्यनारायणन और जस्टिस आर हेमलता की बेंच ने तमिलनाडु के DGP और चेन्नई के पुलिस कमिश्नर को इसको लेकर तलब किया था और कार्रवाई के आदेश दिए थे। जिसके बाद आज उनको गिरफ्तार कर लिया गया है। ज्ञात हो कि जस्टिस कर्णन का विवादों से पहले भी नाता रहा है। वो जज रहते हुए भी जेल भी जा चुके हैं। 9 मई 2017 को सात जजों की बेंच ने जस्टिस कर्णन को अवमानना का दोषी मानते हुए छह महीने की सजा सुनाई थी। इससे पहले भी कई बार वो विवादों में रहे हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.