165 साल के बाद आया ऐसा संयोग, इस बार पितृ पक्ष की अमावस्या के बाद नहीं हैं शारदीय नवरात्र

धर्म डेक्स। इस बार नवरात्रि एक महीने बाद शुरू होगी। हर साल पितृ विसर्जनी अमावस्या के बाद नवरात्रि की तैयारी शुरू हो जाती थी, लेकिन अधिकमास लगने के कारण नवरात्रि एक महीने आगे खिसक गई हैं। इस बार शारदीय नवरात्र 17 अक्टूबर से शुरू होंगे। इससे पहले 18 सितंबर से 16 अक्टूबर तक अधिकमास रहेगा। इस मास में कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता। इस साल 165 साल के बाद ऐसा संयोग बन रहा है। अधिकमास को मलमास और पुरुषोत्तम मास भी कहा जाता है। इस मास में भगवान…

क्या आप जानते है महाभारत युद्ध में कैसे बनता था लाखों सैनिको का भोजन और कभी भी नहीं गया भोजन का एक दाना भी व्यर्थ

धर्म डेस्क। महाभारत हिन्दुओं का एक प्रमुख काव्य ग्रंथ है, जो स्मृति के इतिहास वर्ग में आता है। कभी कभी इसे केवल भारत कहा जाता है। यह काव्यग्रंथ भारत का अनुपम धार्मिक, पौराणिक, ऐतिहासिक और दार्शनिक ग्रंथ हैं। महर्षि कृष्णद्वैपायन वेदव्यास महाभारत ग्रंथ के रचयिता थे। महाभारत ग्रंथ का लेखन भगवान् गणेश ने महर्षि वेदव्यास से सुन सुनकर किया था। वेदव्यास महाभारत के रचयिता ही नहीं, बल्कि उन घटनाओं के साक्षी भी रहे हैं, जो क्रमानुसार घटित हुई हैं। अपने आश्रम से हस्तिनापुर की समस्त गतिविधियों की सूचना उन तक…

गणेश चतुर्थी 2020: इस तरह विधि-विधान से करें अपने घर में गणपति बप्पा की स्थापना, रिद्धि-सिद्धि के साथ विराजेंगे शुभ-लाभ

धर्म डेस्क। गणेश चतुर्थी का त्योहार यानी वह पावन दिन जब हमारे घर गणपति बप्पा स्वयं पधारते हैं और हमारा जीवन धन्य हो जाता है। हम कृतार्थ हो जाते हैं उन्हें पाकर। भादो मास के शुक्लपक्ष की चतुर्थी को भगवान गणेश का जन्मोत्सव बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है और इसी दिन दस दिनों के लिए बप्पा हमारे घर पधारते हैं। इस बार गणेश चतुर्थी 22 अगस्त शनिवार को है। शुभ व पावन बेला में पधारेंगे गजानन श्री गणपति का दस दिनों के लिए पृथ्वी पर शुभागमन हो रहा है।…

हरितालिका तीज – व्रत, उपवास नियम और क्या है महत्व, अपनी प्रार्थनाओं-तप से पाए हरतालिका तीज में आशीर्वाद

धर्म डेक्स। तीज त्यौहार हिंदू धर्म में सबसे महत्वपूर्ण और अत्यधिक मनाए जाने वाले अवसरों में से एक माना जाता है। दोनों विवाहित महिलाओं,और अविवाहित लड़कियों, हरतालिका तीज द्वारा ये त्यौहार काफी ख़ुशी के साथ मनाया जाता है । यह त्योहार भगवान शिव और देवी पार्वती की प्रार्थना करने और पूजा करने के लिए मनाया जाता है। यह हिंदू कैलेंडर के अनुसार भद्रपद महीने में शुक्ल पक्ष (पखवाड़े) के तीसरे दिन मनाया जाता है। महिलाएं इस त्योहार को अपने जीवन में वैवाहिक आनंद सुनिश्चित करने के लिए मनाती हैं। आप…

हरितालिका तीज 2020 : जानें हरतालिका तीज के व्रत नियम, पूजा विधि-व्रत कथा, तीज की पूजा में आपको और किन चीजों की है जरूरत

धर्म डेक्स। हरितालिका तीज व्रत हिंदू धर्म में मनाये जाने वाला एक प्रमुख व्रत है। भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की तृतीया को हरितालिका तीज मनाई जाती है। दरअसल भाद्रपद की शुक्ल तृतीया को हस्त नक्षत्र में भगवान शिव और माता पार्वती के पूजन का विशेष महत्व है। हरितालिका तीज व्रत कुमारी और सौभाग्यवती स्त्रियां करती हैं। विधवा महिलाएं भी इस व्रत को कर सकती हैं। हरितालिका तीज व्रत निराहार और निर्जला किया जाता है। मान्यता है कि इस व्रत को सबसे पहले माता पार्वती ने भगवान शंकर को पति के…

क्या आपने कभी सोचा है हमेशा आदमी ही क्यों फोड़ता है नारियल औरत क्यों नहीं फोड़ती? जानें क्या है कारण

धर्म डेक्स। नारियल को श्रीफल के नाम से भी जाना जाता है। ऐसी मान्यता है की जब भगवान विष्णु ने पृथ्वी पर अवतार लिया तो वे अपने साथ तीन चीजें- लक्ष्मी, नारियल का वृक्ष तथा कामधेनु लाए इसलिए नारियल के वृक्ष को श्रीफल भी कहा जाता है। श्री का अर्थ है लक्ष्मी अर्थात नारियल लक्ष्मी व विष्णु का फल। नारियल में त्रिदेव अर्थात ब्रह्मा, विष्णु और महेश का वास माना गया है। श्रीफल भगवान शिव का परम प्रिय फल है। मान्यता अनुसार नारियल में बनी तीन आंखों को त्रिनेत्र के…

#krishnajanmashtami 2020: जन्माष्टमी पर ऐसे करें श्रीकृष्ण कन्हैया की अराधना, पूरी होगी हर मनोकामना …….

धर्म डेस्क। आज देशभर में भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव कृष्ण जन्माष्टमी की धूम है। कई जगहों पर कृष्णाष्टमी का पर्व आज मनाया जा रहा है तो वहीं मथुरा, वृंदावन, द्वारका समेत कई जगहों पर कल यानी 12 अगस्त को जन्माष्टमी मनाई जाएगी। ज्ञात हो कि जम्मू-कश्मीर से कन्याकुमारी तक देशभर में कृष्ण जन्माष्टमी धूम धाम से मनाई जाती है। देश के अलग-अलग हिस्सों में भगवान कृष्ण की झांकियां सजाई जाती है, लेकिन कोरोना संकट का असर श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर भी देखने को मिल रहा है। हिन्‍दू धार्मिक मान्‍यताओं के मुताबिक…

इन छह : पौधों को घर में जरूर लगाएं, कभी नहीं होगी पैसों की तंगी, होगा सकारात्मक ऊर्जा का संचार

न्यूज़ डेक्स। भारत में वैसे तो पेड़-पौधे लगाने का धार्मिक और वैज्ञानिक दोनों महत्व होता है। वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो पेड़-पौधों से हमें ऑक्सीजन प्राप्त होती है जिस वजह से हमारा वातावरण शुद्ध रहता है। जबकि धार्मिक दृष्टिकोण की ओर से देखा जाए तो कहा जाता है पेड़-पौधे घर की नकारात्मक ऊर्जा को देर करके घर में सुख-समृद्धि लेकर आते हैं। इसलिए आप भी अपने घर में इन 6 पौधों को जरूर लगाएं। इनको लगाने से आपके घर में कभी धन संबंधी परेशानी कभी नहीं होगी। 1.तुलसी का…

#ShriKrishna_Janmashtami 2020 : भगवान श्रीकृष्ण की पत्नी थी रुक्मिनी, लेकिन पूजी जाती हैं राधा की, जानें क्यों ?

धर्म डेस्क। कृष्ण जन्माष्टमी नाम से ही स्पष्ट है कि भगवान कृष्ण जी का जन्म दिवस है लेकिन पूर्ण परमात्मा तो मां के गर्भ में से जन्म नहीं लेते। इन दिनों कृष्ण जन्माष्टमी की तैयारी जोरों पर है। इस मौके पर मथुरा-वृंदावन से लेकर भारत समेत दुनियाभर के तमाम मंदिरों में तैयारी जोरों पर है। मान्यता के अनुसार कृष्ण-कन्हैया का जन्म भद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि (आठवें दिन) को मनाई जाती है। भगवान श्रीकृष्ण को भगवान विष्णु का एक अवतार माना जाता है। मान्यता के मुताबिक इस…

छत्तीसगढ़ का लोकपर्व : हलषष्ठी (कमरछठ), संतान की दीर्घायु के लिए हलषष्ठी की व्रतकथा और पूजा विधि, यंहा पढ़े…

धर्म डेक्स(बीएनएस)। भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की षष्ठी को यह पर्व भगवान श्रीकृष्ण के ज्येष्ठ भ्राता श्री बलरामजी के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। इसी दिन श्री बलरामजी का जन्म हुआ था। यह व्रत संतान की लम्बी आयु के लिए माताओं द्वारा रखा जाता है। इस तरह करें हलषष्ठी की पूजा : इस दिन सूर्योदय से पहले उठना चाहिए। नित्यकर्मों से निवृत्त होकर स्नान कर साफ कपड़े पहनें। जहां पूजा करनी है उस जगह को अच्छे से साफ करें। पूजन स्थल पर गंगाजल छिड़कें। पूजन स्थल पर…