हर हाल में 8 फरवरी तक स्वीकार नहीं किया WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी, तो बंद हो जाएगा व्हाट्सऐप अकाउंट

तकनीकी डेस्क। आज सुबह से ट्विटर पर व्हाट्सऐप ट्रेंड कर रहा है। दरअसल, इसके ट्रेंड होने का कारण WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी है। WhatsApp ने अपने यूज़र्स के लिए नई प्राइवेसी पॉलिसी बनाई है, जिसे 8 फरवरी 2021 से लागू किया जाएगा। इस नई पॉलिसी के लिए व्हाट्सऐप ने यूज़र्स को नोटिफिकेशंस देना शुरू कर दिया है। व्हाट्सऐप की शर्त है कि यूज़र्स को हर हाल में WhatsApp की नई पॉलिसी को मानना ही होगा। अगर वो ऐसा नहीं करेंगे तो वो अपना व्हाट्सऐप अकाउंट डिलीट कर सकते हैं।

WhatsApp की इन्हीं नई पॉलिसी और नई शर्तों की वजह से यूज़र्स में नाराजगी है और कई यूज़र्स तो व्हाट्सऐप को बॉयकॉट करने की भी बात कर रहे हैं। कई यूज़र्स का मानना है कि व्हाट्सऐप से बेहतर विकल्प टेलिग्राम है, लिहाजा अब यूज़र्स को उसका इस्तेमाल करना चाहिए।

अब आप सोच रह होंगे कि आखिर WhatsApp की इस नई पॉलिसी में ऐसा क्या है, जिससे यूज़र्स में इतना नाराजगी है। व्हाट्सऐप की इन नई पॉलिसी की शर्तों में लिखा है कि वह यूज़र्स का डाटा फेेसबुक के साथ बिजनेस करने के लिए इस्तेमाल करेगा। अब आप सोच रह होंगे कि व्हाट्सऐप पर आपका ऐसा कौनसा डाटा है, जिसका वो इस्तेमाल करेगा।

गौरतलब है कि जब आप व्हाट्सऐप पर अकाउंट बनाते हैं तो ऐप को डाउनलोड करते वक्त ही वो आपसे कई तरह के पर्मिशन मांगता है, जैसे आपके कॉन्टैक्ट लिस्ट, गैलेरी, एसएमएस मैसेज..। अब इन सभी जरूरी चीजों का एक्सेस देते हैं तभी व्हाट्सऐप का इस्तेमाल कर पाते हैं, ऐसे में इन सभी चीजों यानि कॉन्टैक्ट लिस्ट, आपकी गैलेरी, मैसेज और आपका नंबर व्हाट्सऐप का एक्सेस व्हाट्सऐप के पास चला जाता है और वो इसका गलत इस्तेमाल भी कर सकता है।

इसके अलावा इस पॉलिसी में दूसरी जो महत्वपूर्ण बात आपकी यानि यूज़र्स की चैटिंग है। आपकी चैटिंग का एक्सेस भी व्हाट्सऐप के पास है। WhatsApp भले ही एंड टू एंड इनक्रिप्शन का दावा करता है लेकिन ऐसा कई बार देखने को मिला है जब यूज़र्स की WhatsApp चैटिंग भी लीक हुई है। Pegasus जैसी कई बड़ी हैकिंग में कई बार ये बात साबित भी हुई है। ऐसे में व्हाट्सऐप आपके चैटिंग पर भी नजर रख सकता है और उसे अपने अनुसार अपने बिजनेस के लिए इस्तेमाल कर सकता है।

संबंधित समाचार

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.